iastoppers_hindi_editorial
Today's Important

आज के महत्वपूर्ण आलेख 14th April 2017

जनसत्ता, नवभारत टाइम्स, दैनिक जागरण, बिज़नेस स्टैण्डर्ड, दैनिक ट्रिब्यून- जैसे प्रमुख अखबारों से पसंद किए हुए संपादकीय आलेखों का दैनिक संकलन।
By IT's Selection Team
April 14, 2017

Contents

  • आंबेडकर के संविधान पर बना लोकतंत्र खतरे में
  • हर चीज कंप्यूटर संचालित पर सुरक्षा बिल्कुल नहीं
  • मन-मस्तिष्क भी स्वच्छ बनाइए
  • पहले ही चुनाव में मिली उन्हें हार
  • भोजन का अनुशासन
  • अनावश्यक हस्तक्षेप
  • बैटरी चालित वाहन और परंपरागत कार बाजार
  • योजना की जगह नीति
  • अर्थव्यवस्था की तस्वीर
  • किसानों के भी हमदर्द थे अंबेडकर
  • काम तो बाबा साहब की सोच के उलट ही हो रहा है

 

ias toppers dainik bhaskar

आंबेडकर के संविधान पर बना लोकतंत्र खतरे में

सन्दर्भ:

भारतीय राजनीतिक-सामाजिक परिप्रेक्ष्य में देश के संविधान के निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर आज भी अपनी पूरी धमक और असर के साथ मौजूद हैं।


हर चीज कंप्यूटर संचालित पर सुरक्षा बिल्कुल नहीं

सन्दर्भ:

साइबर सुरक्षा… कंप्यूटरसिक्योरिटी विरोधाभासी शब्दावली है। पिछले साल साइबर चोरों ने बैंक से 8.10 करोड़ डॉलर चुराए। हैकरों ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में दखल दिया। सुरक्षा उपाय नहीं होने से ऐसा हुआ।


ias toppers Dainik Tribune

मन-मस्तिष्क भी स्वच्छ बनाइए

सन्दर्भ:

गांधीजी ने भी स्वच्छता को एक अभियान की तरह चलाया था। लेकिन गांधीजी की स्वच्छता सिर्फ घर या गली या मोहल्ले की सफाई तक सीमित नहीं थी। स्वच्छता गांधीजी के लिए एक मूल्य थी, जिसका सीधा रिश्ता समूचे जीवन से था। यदि स्वच्छता के माध्यम से ही राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि देनी है तो इस स्वच्छता को तन ही नहीं, मन और मस्तिष्क की स्वच्छता से भी जोड़ना होगा।


पहले ही चुनाव में मिली उन्हें हार

सन्दर्भ:

आज हम भारत रत्न बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर को उनकी 126वीं जयंती पर याद कर रहे हैं। देश की नयी पीढ़ी के लिए यह जानना दिलचस्प है कि यदि उन्हें भारत के संविधान का निर्माता कहा जाता है तो उनका योगदान क्या था?


भोजन का अनुशासन

सन्दर्भ:

देश के बड़े होटलों में भोजन की अंधाधुंध हो रही बर्बादी रोकने के बारे में सरकार गंभीरता से विचार कर रही है। सरकार की इस पहल के निहितार्थ।


ias toppers Business Standard

अनावश्यक हस्तक्षेप

सन्दर्भ:

बहरहाल, आयात के गुणदोषों पर बात किए बगैर तथ्य यही है कि वैश्विक चीनी बाजार में भारत के हस्तक्षेप से चीनी कीमतें मजबूत होंगी जबकि सबसे बड़े चीनी उत्पादक ब्राजील में रिकॉर्ड उत्पादन के कारण कीमतें अब तक कमजोर थीं। हकीकत में कीमतों में तेजी आनी शुरू भी हो चुकी है।


बैटरी चालित वाहन और परंपरागत कार बाजार

सन्दर्भ:

सरकार बिजली से चलने वाले वाहनों को मदद मुहैया करा सकती है लेकिन इस संबंध में बाकायदा नीति बनाए जाने की आवश्यकता है।


Navbharat

योजना की जगह नीति

सन्दर्भ:

योजना आयोग और पंचवर्षीय योजना को खत्म कर देने की घोषणा मोदी सरकार ने अपने आने के साथ ही कर दी थी, लेकिन जारी योजना को जैसे-तैसे चलने दिया था। वह, यानी बारहवीं और अंतिम पंचवर्षीय योजना 31 मार्च 2017 को खत्म हो गई और एक पखवाड़ा हम नेहरू युग के इस संभवत: अंतिम अवशेष के बिना पार करने जा रहे हैं।


ias toppers Jansatta

अर्थव्यवस्था की तस्वीर

सन्दर्भ:

इस वक्त अर्थव्यवस्था का क्या हाल है, यह सवाल राजनीतिक कोण से भी अहम है।


ias toppers live hindustan

किसानों के भी हमदर्द थे अंबेडकर

सन्दर्भ:

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का जिक्र आते ही भारतीय संविधान के निर्माण में उनके योगदान या अस्पृश्यों के उद्धार की उनकी कोशिशों को याद किया जाता है। मगर बाबा साहब को अर्थव्यवस्था की कितनी बारीक समझ थी, यह कम ही लोग जानते हैं।


काम तो बाबा साहब की सोच के उलट ही हो रहा है

सन्दर्भ:

अंबेडकर ने जो तीन नारे दिए थे, उनमें खास था ‘शिक्षित बनो’। सरकारों का काम था कि वे जनता को शिक्षित करतीं, पर ज्यादातर सरकारों ने आम जनता को शिक्षित करने की अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई।

 

Topics
TODAY’S IMPORTANT
Tags

Facebook

My Favourite Articles

  • Your favorites will be here.

Calendar Archive

December 2018
M T W T F S S
« Nov    
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31