ias-toppers-TAGORE_
Image Credit: FRONTLINE
Today's Important

आज के महत्वपूर्ण आलेख 17th April 2017

रवींद्रनाथ ठाकुर और गांधी में समानताएं कम, असमानताएं ज्यादा हैं। इसका मूल कारण एक का कवि और दूसरे का राजनीतिक होना भी है। सबसे दिलचस्प बात है कि दोनों की पारस्परिकता में हमें परस्पर पूरकता के भी दर्शन होते हैं।
By IT's Selection Team
April 17, 2017

Contents

  • नई वैश्विक भूमिका में भारत
  • सुधार की बाट जोहती शिक्षा
  • अमेरिका नहीं, न्यूजीलैंड जा रही हैं नई आईटी कंपनियां
  • सभी एयरलाइन यूनाइटेड के दुर्व्यवहार से सबक लेंगी
  • नापाक मंसूबे
  • सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग की मुश्किल, कामगारों की नहीं
  • एफआरबीएम 0
  • खेती के लिए काफी नहीं कर्ज माफी
  • सोशल मीडिया के अंदरूनी खतरे
  • असहमति और संवाद
  • तंबाकू पर एक नई बहस

 

ias toppers Dainik Jagran

नई वैश्विक भूमिका में भारत

सन्दर्भ:

अब वैश्विक स्तर पर भारत से एक नई तरह की अपेक्षा की जा रही है। वह यही कि भारत एक नई किस्म की वैश्विक भूमिका अख्तियार करे।


सुधार की बाट जोहती शिक्षा

सन्दर्भ:

सिर्फ शिक्षा की महत्ता को जान लेने से ही न तो शिक्षा अपने लक्ष्य पूर्ण कर पाती है और न प्रगति की राह सुगम हो पाती है।


ias toppers dainik bhaskar

अमेरिका नहीं, न्यूजीलैंड जा रही हैं नई आईटी कंपनियां

सन्दर्भ:

न्यूजीलैंड में कुछ दशक पहले तक सॉफ्टवेयर उद्योग की ज्यादा जरूरत नहीं थी, अब वही न्यूजीलैंड आईटी विशेषज्ञों की नई पनाहगाह बन रहा है। अमेरिका तो ठीक, यूरोप में ब्रेग्जिट के कारण लंदन के प्रति मोह कम हो रहा है।


सभी एयरलाइन यूनाइटेड के दुर्व्यवहार से सबक लेंगी

सन्दर्भ:

यह रहस्य की बात नहीं है कि हाल के वर्षों में विमान यात्रा इतनी बदसूरत क्यों हो गई है। प्रतिस्पर्धा नहीं होने का लाभ उठाती हैं एयरलाइन


ias toppers Dainik Tribune

नापाक मंसूबे

सन्दर्भ:

यह समझना मुश्किल नहीं होना चाहिए कि जाधव प्रकरण के जरिये पाकिस्तान अपने भारत विरोधी प्रोपेगंडा को आधार देने की कोशिश कर रहा है। पाक पर अंतर्राष्ट्रीय दबाव जरूरी।


ias toppers Business Standard

सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग की मुश्किल, कामगारों की नहीं

सन्दर्भ:

अमेरिका में नई सेवा शर्तों के बीच भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के कर्मचारी बिना उन कंपनियों के भी अच्छा प्रदर्शन करने की काबिलियत रखते हैं जिन्होंने उन्हें नियुक्त कर रखा था।


एफआरबीएम 2.0

सन्दर्भ:

राजकोषीय उत्तरदायित्व एवं बजट प्रबंधन अधिनियम (एफआरबीएम) की समीक्षा के लिए गठित एक समिति ने केंद्र एवं राज्य सरकारों के लिए राजकोष के मामले में ईमानदारी बरतने के कड़े लक्ष्य सुझाए हैं।


Navbharat

खेती के लिए काफी नहीं कर्ज माफी

सन्दर्भ:

वैसे देश के अधिकतर किसान संगठन कर्ज माफी, मुफ्त बिजली या सब्सिडी नहीं चाहते। उनकी मांग उद्योगों की तरह फसलों का दाम भी लागत के आधार पर तय करने, उन्नत बीज और खाद-पानी समय पर मुहैया कराने, सिंचाई सुविधाओं का विस्तार करने, उपज खरीद के लिए मंडियों का जाल बिछाने, गांवों को पक्की सड़कों से जोड़ने तथा समय पर बिजली देने की है।


ias toppers Jansatta

सोशल मीडिया के अंदरूनी खतरे

सन्दर्भ:

निश्चित रूप से इंटरनेट व इसके माध्यम से चलने वाली सोशल नेटवर्किंग साइट्स पूरी दुनिया के लिए ज्ञान तथा सुविधा का अब तक का सबसे बड़ा माध्यम साबित हो रही है। पर तस्वीर का दूसरा पहलू भी है।


असहमति और संवाद

सन्दर्भ:

रवींद्रनाथ ठाकुर और गांधी में समानताएं कम, असमानताएं ज्यादा हैं। इसका मूल कारण एक का कवि और दूसरे का राजनीतिक होना भी है। सबसे दिलचस्प बात है कि दोनों की पारस्परिकता में हमें परस्पर पूरकता के भी दर्शन होते हैं।


ias toppers live hindustan

तंबाकू पर एक नई बहस

सन्दर्भ:

सेहत के लिए तंबाकू के नुकसान का मामला अलग है और तंबाकू का कारोबार करने वाली कंपनी में निवेश का अलग।

 

Topics
TODAY’S IMPORTANT
Tags

Facebook

My Favourite Articles

  • Your favorites will be here.

Calendar Archive

December 2018
M T W T F S S
« Nov    
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31