Today's Important

आज के महत्वपूर्ण आलेख 7th April 2017

जनसत्ता, नवभारत टाइम्स, दैनिक जागरण, बिज़नेस स्टैण्डर्ड, दैनिक ट्रिब्यून- जैसे प्रमुख अखबारों से पसंद किए हुए संपादकीय आलेखों का दैनिक संकलन।
By IT's Selection Team
April 07, 2017

Contents

  • न्याय की प्रतीक्षा में नदियां
  • मित्रता को मधुर बनाने का अवसर
  • नेतृत्व के लिए अमेरिका को चुनौती दे रहा है चीन?
  • भिखारी मत बनाइए अन्नदाता को
  • डिजिटल भुगतान में सुरक्षा पर रहे ज्यादा ध्यान
  • चौकस कदम
  • किसान मदद के मोहताज क्यों हैं
  • त्रासदी का हमला

 

ias toppers Dainik Jagran

न्याय की प्रतीक्षा में नदियां

सन्दर्भ:

शुद्ध पेयजल का संकट देशव्यापी है। हम नदी संस्कृति नहीं, बल्कि नाला सभ्यता के आदी हो रहे हैं।


मित्रता को मधुर बनाने का अवसर

सन्दर्भ:

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की ताजा भारत यात्रा को दोनों देशों के संबंधों को एक नई दिशा और गति देने के लिहाज से अत्यंत महत्वपूर्ण माना जा रहा है- न केवल बांग्लादेश में, बल्कि भारत में भी।


ias toppers dainik bhaskar

नेतृत्व के लिए अमेरिका को चुनौती दे रहा है चीन?

सन्दर्भ:

चाइनामॉडल की बात करने वाले उसके राष्ट्रपति शी अब ‘चाइना सॉल्यूशन’ की बात कर रहे हैं पर बता नहीं रहे कि वह है क्या। निश्चिततौर पर वे वैश्विक रणनीति पर काम कर रहे हैं।


ias toppers Dainik Tribune

भिखारी मत बनाइए अन्नदाता को

सन्दर्भ:

अन्नदाता का आत्महत्या करने को मजबूर होना किसी भी सरकार और समाज के लिए अभिशाप ही है, लेकिन कर्ज माफी समस्या से तात्कालिक राहत भर है, समाधान नहीं।


ias toppers Business Standard

डिजिटल भुगतान में सुरक्षा पर रहे ज्यादा ध्यान

सन्दर्भ:

यह बात याद रखनी होगी कि डिजिटल मामले में उपभोक्ता अपना सारा नियंत्रण एक सिस्टम को सौंप देता है जो नकद लेनदेन की तुलना में खासा अस्पष्ट होता है।


चौकस कदम

सन्दर्भ:

आरबीआई अतिरिक्त नकदी से निपटने के लिए बाजार को स्थिर बनाने वाली योजना के साथ-साथ लंबी अवधि की रिवर्स रीपो और मुक्त बाजार गतिविधियों का भी इस्तेमाल करेगा।


ias toppers Jansatta

किसान मदद के मोहताज क्यों हैं

सन्दर्भ:

खेती-किसानी का संकट किसी राहत पैकेज या कर्जमाफी से दूर होने वाला नहीं है। इसके बावजूद कर्जमाफी के जरिए किसानों को राहत दिलाने की मांग बढ़ती जा रही है। किसानों के चुनावी रहनुमा यह नहीं देख रहे हैं कि खेती-किसानी की बदहाली बढ़ती लागत और कुदरती अनिश्चितता समेत कई कारणों से है। कुल मिलाकर, खेती घाटे का धंधा बन गई है।


त्रासदी का हमला

सन्दर्भ:

सीरिया में चल रहा गृहयुद्ध:

किसी भी युद्ध में विमानों के जरिए बम-बारूद या बाकी व्यापक विनाश वाले हथियारों का इस्तेमाल अब कोई हैरानी नहीं पैदा करता।

 

Topics
TODAY’S IMPORTANT
Tags

IT on Facebook

Facebook Pagelike Widget

Comments

Calendar Archive

August 2020
M T W T F S S
« Jul    
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31